ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• सौरव गांगुली की बेटी सना ने नागरिकता कानून के खिलाफ किया पोस्ट, गांगुली ने किया खंडन
• मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे ने निर्भया मामले में दोषी अक्षय ठाकुर द्वारा दायर समीक्षा याचिका पर सुनवाई से खुद को किया अलग
• ममता बनर्जी ने एक अधिसूचना के जरिये NRC से जुड़े कार्यों को पश्चिम बंगाल में रोका
• मऊ में उपद्रवियों ने थाना फूँका, स्थिति नियंत्रण में आयी
• अयोध्या में चार महीनों में आरम्भ होगा एक गगनचुम्बी श्री राम मंदिर का निर्माण-अमित शाह
• पायल रोहतगी की ज़मानत की अर्ज़ी ख़ारिज, रहेंगी 24 दिसंबर तक जेल में
• उद्धव सरकार में दरार, हर बड़ा नेता मंत्री बनाने को बेक़रार
• राहुल गांधी की टिप्पणी के विरोध में “मैं भी सावरकर”
• दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सामने बढ़ा विरोध प्रदर्शन, कल दक्षिण पूर्वी दिल्ली के स्कूल बंद
• जूता छुपाई पर दूल्हे ने की मारपीट, दुल्हन ने करवा दिया कैद
• दिल्ली में नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने बसों को आग लगाईं, कारों और बाइकों को तोडा
• भाजपा ने नागरिकता संशोधन विधेयक के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान की घोषणा की
• प्रशांत किशोर ने कहा नीतीश कुमार भी करेंगे NRC का विरोध, नहीं करेंगे राज्य में लागू
• वीर सावरकर पर टिप्पणी के लिए राहुल गांधी को बिना शर्त मांगनी चाहिए माफ़ी- देवेंद्र फडणवीस
• पीएम मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को उनकी पुण्यतिथि पर किया नमन, योगी ने कहा NRC उनको सच्ची श्रद्धांजलि

सऊदी और कई खाड़ी देशों में पाकिस्तान के डॉक्टर अयोग्य घोषित!

पाकिस्तान के दिन लग रहा  है अच्छे नहीं चल रहे हैं, भारत द्वारा कश्मीर पर एक स्पष्ट निर्णय लिए जाने पर वह बौखलाया हुआ है! और इस बौखलाहट में वह न जाने क्या क्या कर रहा है और धीरे धीरे अधिकतर देश भारत के पक्ष में आते जा रहे हैं! किसी भी देश का नेतृत्व कैसा है, विश्व का नज़रिया इसी बात पर निर्भर करता है!

 मगर जो अभी खबर आ रही है वह पाकिस्तान के लिए वाकई दुखी करने वाली है। खबर है कि सऊदी अरब और कुछ और अरब देशों ने पाकिस्तान के डॉक्टर की पढ़ाई को अवैध घोषित कर दिया है और अब पाकिस्तान के डॉक्टर इन सभी देशों में काम करने के योग्य नहीं होंगे।  Dawn में प्रकाशित इस रिपोर्ट के कारण अब पाकिस्तान के हज़ारों डॉक्टर की नौकरी पर खतरा पैदा हो गया है और अब उन्हें बैरंग वापस आना पड़ेगा।

 सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह कहा कि पाकिस्तान का एमएस (मास्टर ऑफ सर्जरी) और एमडी (डॉक्टर ऑफ मेडिसिन) प्रोग्राम में आधारभूत संरचना की कमी है, जो डॉक्टर के लिए आवश्यक होती हैं!

सऊदी सरकार के द्वारा कई डॉक्टर को निलंबन पत्र जारी किया जा चुका है और यह कह दिया गया है कि चूंकि उनकी पाकिस्तानी डिग्री अब स्वीकार्य नहीं है तो वह क़ानून के अनुसार यहाँ काम नहीं कर सकते हैं!

इस निर्णय से जहां पाकिस्तान के माथे पर चिंता की लकीरें हैं, वहीं यह पाकिस्तान की शिक्षा पद्धति पर भी सवाल खड़े करता है क्योंकि यह अंतर्राष्ट्रीय  मंच पर शर्मिंदगी का बहुत बड़ा विषय है!

पाकिस्तान के अधिकतर डॉक्टरों को सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय ने 2016 में कराची, लाहौर और इस्लामाबाद में इंटरव्यू के बाद भर्ती किया था। इन्हीं में से चुने गए एक डॉक्टर ने बताया कि इस तरह का निर्णय हमारे लिए काफी निराशाजनक है जबकि भारत, मिस्र, सूडान और बांग्लादेश की यही डिग्रियां सऊदी अरब और अन्य देशों में मान्य है।

वहीं सऊदी अरब की तरफ से कहा गया है कि हमें पता चला कि पाकिस्तान में पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल पाठ्यक्रम प्रशिक्षण आधारित कार्यक्रम नहीं है। इसके बाद ही उनकी डिग्री को हमारे देश में अवैध घोषित किया गया है।

यह आर्थिक दिवालिएपन की कगार पर खड़े देश के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है!

Related Articles