ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• पाकिस्तानी क्रिकेट प्रेमी अब करेंगे भारत की जीत की दुआ
• हज़ारों वर्षों से अस्तित्व में है हिन्दू धर्म, फिर मिला ये प्रमाण
• मंगरू पाहन की मृत्यु लिंचिंग में गिनी जाएगी क्या?
• दो मामलों में आकाश विजयवर्गीय को मिली ज़मानत, एक मामला लंबित
• योगी सरकार ने किया इन 17 जातियों को अनुसूचित सूची में शामिल, सपा-बसपा सकते में
• सुबह 9 बजे दफ्तर पहुंचने के योगी के आदेश से नौकरशाही परेशान
• राजधानी, शताब्दी जैसी ट्रेनों के निजीकरण की कोई योजना नहीं – पीयूष गोयल
• नेहरू और कांग्रेस की वजह से है कश्मीर समस्या, पटेल को दिया धोखा- अमित शाह
• हुआ ऐसे तार-तार जय भीम और जय मीम का झूठा गठजोड़!
• ब्राह्मणों को गाली! अनुभव सिन्हा हम जैसे लोग आपको बड़ा बनाते हैं!
• लिंचिंग से नहीं दिल का दौरा पड़ने से हुई थी तबरेज की मृत्यु
• संजय गांधी की सनक की वजह से आपातकाल में हुआ ऐसा
• तेज प्रताप आज नया मंच ‘तेज सेना’ करेंगे लॉन्च, भाजपा ने की प्रशंसा
• अमित शाह ने अमरनाथ यात्रा के दौरान यात्रियों के लिए सर्वोत्तम संभव व्यवस्था करने का भरोसा दिलाया
• झूठी हैं लिंचिंग की ये घटनाएं, रहें सावधान

नेहरू और कांग्रेस की वजह से है कश्मीर समस्या, पटेल को दिया धोखा- अमित शाह

आज कश्मीर पर गृह मंत्री खूब बोले। जम्मू और कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग इतनी जोर से कहा कि संसद में आज उसकी गूँज सुनाई देती रही। अमित शाह ने आज जैसे ही भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के कारण कश्मीर की समस्याओं पर बात करना आरम्भ किया वैसे ही विपक्ष के नेताओं ने और ख़ास तौर पर कांग्रेस के नेताओं ने शोर मचाना शुरू कर दिया। उन्होंने श्यामाप्रसाद मुखर्जी की संदिग्ध मृत्यु की बात की।  उन्होंने कहा कि  तब जब उनकी मृत्यु की जांच की मांग की, तो नेहरू ने मना कर दिया।

जब कांग्रेस ने भाजपा पर सत्ता का दुरूपयोग करने का आरोप लगाया तो गृह मंत्री अमित शाह ने नेहरू से लेकर मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली संप्रग की सरकार तक पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को यह याद रखना चाहिए कि कितनी बार धारा 356 का उपयोग कांग्रेस ने किया। हम तो विशेष कारणों के लिए कर रहे हैं, मगर जो लोग आज सत्ता का दुरूपयोग का प्रश्न उठा रहे हैं। वह बताएं कि उन्होंने बिना कारण के क्या चुनी हुई सरकारों को नहीं हटाया।

गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस के नेता मनीष तिवारी इतिहास की बात करते हैं। यदि इतिहास की बात करें तो देश के विभाजन की जिम्मेदार कांग्रेस ही है। हम नहीं हैं। हम तो तब अस्तित्व में नहीं थे। जम्मू-कश्मीर का एक तिहाई हिस्सा आज भी पाकिस्तान के कब्जे में है। क्या वह हमने किया? क्या भाजपा ने यह सब किया? धर्म के आधार पर भारत का विभाजन क्या हमने किया? नहीं, वह कांग्रेस ने किया। और कांग्रेस बार बार भरोसा न होने का रोना रोती है, वह  बताए कि जब पाकिस्तानी कबायलियों को जब सेना बाहर कर रही थी तो सीजफायर कर दिया गया। हमसे कहते हैं कि लोगों को भरोसे में नहीं लेते, लेकिन नेहरू ने गृहमंत्री को भरोसे में लिए बगैर सीजफायर कर दिया।

उन्होंने यह भी कहा कि आज तक केवल तीन परिवार का ही शासन जम्मू और कश्मीर पर था, फिर चाहे कोई भी संस्था हो, आज चालीस हज़ार से अधिक सरपंच पंचायत के माध्यम से अपने सदस्यों को लाभ पहुंचा रहे हैं।

गृह मंत्री अमित शाह ने भाजपा सरकार द्वारा किए गए सुधार एवं विकास कार्यों की बातें की। उन्होंने यह भी बताया कि जम्मू और कश्मीर का विकास करना ही हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों की नीतियाँ होती थी कि शुरुआत एक सरकार करती थी और उसका उदघाटन दूसरी सरकार करती थी। मगर हम पहली सरकार हैं जो लोकार्पण भी करती है और शुरुआत भी।

उन्होंने यह भी कहा कि यह सरकार जम्मू और लद्दाख क्षेत्र के साथ होने वाले अन्याय को कम करेगी और उन्होंने कश्मीरी हिन्दुओं के बारे में उठाए जा रहे क़दमों के विषय में भी बताया।

यह कह सकते हैं कि आज कई वर्ष उपरान्त कश्मीर के विषय में ऐसा वक्तव्य सुनने को मिला जो अद्भुत था, अप्रितम था। जो समस्याओं के बारे में और उनके समाधानों के बारे में था, जो देश के एक टुकड़े कश्मीर के बारे में था, जो इतिहास और राजनीति दोनों को साथ लेकर चलने वाला था। जिसमें इतिहास बोध था, जिसमें भारतीयता का बोध  था और जिसमें अस्तित्व बोध था।

Related Articles