ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• कल से इन राज्यों में अमूल दूध दो रुपये और मदर डेरी तीन रुपये महंगा
• संजय राउत ने सावरकर पर अटल की पंक्तियाँ की ट्वीट, सावरकर माने तेज, त्याग, तप, तत्व
• राहुल सावरकर नहीं, आप हैं राहुल जिन्ना- भाजपा
• पश्चिम बंगाल पहला राज्य जहां लागू होगा नागरिकता संशोधन अधिनियम- भाजपा
• मनोहर पर्रिकर ने जाने से पहले अपना जोश मुझमे डाला- गोवा सीएम प्रमोद सावंत
• उदित राज बने कांग्रेस के प्रवक्ता
• नानावती कमीशन की रिपोर्ट गुजरात विधान सभा में पेश, नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट
• लोकसभा में नागरिकता विधेयक का समर्थन करने के बाद शिवसेना आयी बिल के विरोध में
• भारत के मुसलमानों को नागरिकता संशोधन बिल से नहीं डरना चाहिए- अमित शाह
• हमने छह महीने में जो किया है, वह 70 साल से नहीं किया गया- पीएम मोदी
• NHRC की टीम ने आरोपियों की ऑटोप्सी पर उठाए सवाल, तेलंगाना मुठभेड़ स्थल का किया दौरा
• यूपी सरकार ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के परिवार के लिए 25 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की, साथ में सरकारी मकान
• मायावती ने उन्नाव पीड़िता की मौत के बाद राज्यपाल आनंदीबेन से मामले में हस्तक्षेप करने का किया अनुरोध
• न्याय कभी बदले की भावना के साथ नहीं किया जाना चाहिए- मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे
• घटनस्थल की जांच करने मानवाधिकार टीम पहुंची हैदराबाद

राजनाथ सिंह ने बीजेपी सांसदों को लगाई फटकार, कहा ये प्रधानमंत्री का सन्देश

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को सत्तारूढ़ दल के सांसदों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई बार चेतावनी देने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी के सांसदों द्वारा संसद की बैठकों में न भाग लेने से नाखुश हैं और सदस्यों को अपने काम के प्रति और अधिक गंभीरता लेने की आवश्यकता है।

सिंह ने भाजपा संसदीय दल की साप्ताहिक बैठक में सांसदों से कहा, “प्रधानमंत्री ने सांसदों के बीच अनुशासन की कमी के बारे में बार-बार बात की है।”

वरिष्ठ मंत्री ने सांसदों से कहा कि प्रधानमंत्री “असंतुष्ट हैं कि बार-बार उनकी सलाह के बावजूद स्थिति में बदलाव नहीं हुआ है”।

इस साल जुलाई में भी पीएम मोदी ने विशेष रूप से सदन से अनुपस्थित सांसदों को कड़ी फटकार लगाई थी, जब वे बार-बार सदन से अनुपस्थित रहे थे। आपको कैसा लगेगा, पीएम मोदी ने उनसे पूछा था, अगर उन्होंने या अमित शाह ने अपने निर्वाचन क्षेत्र में एक सार्वजनिक बैठक में भाग लेने का वादा किया हो, लेकिन फिर न पहुंचें।

भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने सोचा था कि मोदी जी की फटकार के बाद सांसद, खासतौर पर जो पहली बार चुनकर आये हैं, अनुशासित हो जायेंगे (भाजपा के 303 सांसदों में से 133 पहले बार सदस्य बने हैं) और संसद की बैठकों में भाग लेने की आदत डाल लेंगे।

सरकार द्वारा नागरिकता (संशोधन) विधेयक को आगे बढ़ाने के प्रयासों से पहले राजनाथ सिंह की ये चेतावनी बिल को पास कराने के सन्दर्भ में देखि जा रही है, जो पड़ोसी देशों जैसे पाकिस्तान और बांग्लादेश में रहने वाले हिन्दू अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता दिलाने में मदद करेगा।

रक्षा मंत्री ने सांसदों को संसद में चर्चा के लिए आने वाले महत्वपूर्ण राजनीतिक बिलों के बारे में याद दिलाया। वरिष्ठ मंत्री ने कहा, “आने वाले दिनों में कई महत्वपूर्ण बिल संसद में पेश किये जाएंगे और आप सभी को सदन में मौजूद रहना होगा।”

Related Articles