ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• सौरव गांगुली की बेटी सना ने नागरिकता कानून के खिलाफ किया पोस्ट, गांगुली ने किया खंडन
• मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे ने निर्भया मामले में दोषी अक्षय ठाकुर द्वारा दायर समीक्षा याचिका पर सुनवाई से खुद को किया अलग
• ममता बनर्जी ने एक अधिसूचना के जरिये NRC से जुड़े कार्यों को पश्चिम बंगाल में रोका
• मऊ में उपद्रवियों ने थाना फूँका, स्थिति नियंत्रण में आयी
• अयोध्या में चार महीनों में आरम्भ होगा एक गगनचुम्बी श्री राम मंदिर का निर्माण-अमित शाह
• पायल रोहतगी की ज़मानत की अर्ज़ी ख़ारिज, रहेंगी 24 दिसंबर तक जेल में
• उद्धव सरकार में दरार, हर बड़ा नेता मंत्री बनाने को बेक़रार
• राहुल गांधी की टिप्पणी के विरोध में “मैं भी सावरकर”
• दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सामने बढ़ा विरोध प्रदर्शन, कल दक्षिण पूर्वी दिल्ली के स्कूल बंद
• जूता छुपाई पर दूल्हे ने की मारपीट, दुल्हन ने करवा दिया कैद
• दिल्ली में नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने बसों को आग लगाईं, कारों और बाइकों को तोडा
• भाजपा ने नागरिकता संशोधन विधेयक के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान की घोषणा की
• प्रशांत किशोर ने कहा नीतीश कुमार भी करेंगे NRC का विरोध, नहीं करेंगे राज्य में लागू
• वीर सावरकर पर टिप्पणी के लिए राहुल गांधी को बिना शर्त मांगनी चाहिए माफ़ी- देवेंद्र फडणवीस
• पीएम मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को उनकी पुण्यतिथि पर किया नमन, योगी ने कहा NRC उनको सच्ची श्रद्धांजलि

राजनाथ सिंह ने बीजेपी सांसदों को लगाई फटकार, कहा ये प्रधानमंत्री का सन्देश

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को सत्तारूढ़ दल के सांसदों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई बार चेतावनी देने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी के सांसदों द्वारा संसद की बैठकों में न भाग लेने से नाखुश हैं और सदस्यों को अपने काम के प्रति और अधिक गंभीरता लेने की आवश्यकता है।

सिंह ने भाजपा संसदीय दल की साप्ताहिक बैठक में सांसदों से कहा, “प्रधानमंत्री ने सांसदों के बीच अनुशासन की कमी के बारे में बार-बार बात की है।”

वरिष्ठ मंत्री ने सांसदों से कहा कि प्रधानमंत्री “असंतुष्ट हैं कि बार-बार उनकी सलाह के बावजूद स्थिति में बदलाव नहीं हुआ है”।

इस साल जुलाई में भी पीएम मोदी ने विशेष रूप से सदन से अनुपस्थित सांसदों को कड़ी फटकार लगाई थी, जब वे बार-बार सदन से अनुपस्थित रहे थे। आपको कैसा लगेगा, पीएम मोदी ने उनसे पूछा था, अगर उन्होंने या अमित शाह ने अपने निर्वाचन क्षेत्र में एक सार्वजनिक बैठक में भाग लेने का वादा किया हो, लेकिन फिर न पहुंचें।

भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने सोचा था कि मोदी जी की फटकार के बाद सांसद, खासतौर पर जो पहली बार चुनकर आये हैं, अनुशासित हो जायेंगे (भाजपा के 303 सांसदों में से 133 पहले बार सदस्य बने हैं) और संसद की बैठकों में भाग लेने की आदत डाल लेंगे।

सरकार द्वारा नागरिकता (संशोधन) विधेयक को आगे बढ़ाने के प्रयासों से पहले राजनाथ सिंह की ये चेतावनी बिल को पास कराने के सन्दर्भ में देखि जा रही है, जो पड़ोसी देशों जैसे पाकिस्तान और बांग्लादेश में रहने वाले हिन्दू अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता दिलाने में मदद करेगा।

रक्षा मंत्री ने सांसदों को संसद में चर्चा के लिए आने वाले महत्वपूर्ण राजनीतिक बिलों के बारे में याद दिलाया। वरिष्ठ मंत्री ने कहा, “आने वाले दिनों में कई महत्वपूर्ण बिल संसद में पेश किये जाएंगे और आप सभी को सदन में मौजूद रहना होगा।”

Related Articles