ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• अपने संन्यास को लेकर युवराज का बड़ा बयान, 2019 में ले सकते हैं कोई फैसला
• सीजेआई दीपक मिश्रा पर लगाए गए सभी आरोप गलत साबित, उपराष्ट्रपति ने महाभियोग प्रस्ताव को किया खारिज
• इंदौर में मॉडल युवती से छेड़खानी, शिवराज सिंह चौहान ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के दिए निर्देश
• शिवराज कैबिनेट- मध्यप्रदेश सरकार ने लिए बड़े फैसले, अब सरकार भरेगी विद्यार्थियों की फीस
• क्रिस गेल ने किया सपना चौधरी के हिट गाने पर गज़ब डांस, वीडियो देखकर सभी हुए हैरान
• राहुल गांधी पर अमित शाह का पलटवार, संविधान बचा रहे हैं या वंश
• KYC के नियमों से वॉलेट की ट्रांजैक्शंस में आई कमी, जानिये कितने प्रतिशत हुई गिरावट
• ‘संविधान बचाओ’ अभियान- बीजेपी का राहुल गांधी के भाषण के बाद पलटवार, राहुल-सोनिया को किसी पर भरोसा नहीं
• VHP प्रमुख कोकजे ने किया अयोध्या का दौरा, कहा-बहुत जल्द शुरू होगा भव्य राम मंदिर का निर्माण
• अगर आपके आईडिया में है दम, तो ये कंपनियाँ देती हैं बिज़नेस के लिए पैसे, आप भी करें अप्‍लाई
• महाभियोग प्रस्ताव खारिज होने पर बोले सुब्रमण्यम स्वामी, कहा- कांग्रेस ने ऐसा करके की खुदकुशी
• अंडे के सफेद हिस्से का सेवन करने से हो सकती है शरीर में एलर्जी, जानिए अंडे के सफेद हिस्से के कुछ और नुकसान
• शिल्पा शिंदे ने पोस्ट किया ‘अडल्ट’ वीडियो का स्क्रीन शॉर्ट, हीना खान ने किया जबरदस्त कमेंट
• कांग्रेसी नेता एम वीरप्पा मोइली ने की राहुल गाँधी की तारीफ, नरेंद्र मोदी की तुलना में अधिक सक्षम बताया
• राजस्थान- BJP प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति पर टिकी सबकी नजरें,शुरू हुई नए नामों पर चर्चा

डबल एजेंट सर्गेइ स्क्रिपल- PM नरेंद्र मोदी ने की रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन पर बात

डबल एजेंट सर्गेई स्क्रिपल और उसकी बेटी यूलिया पर रसायनिक हमले के बाद रूस और ब्रिटेन के मध्य चल रहे तनाव के बीच भारत ने गुरुवार (12 अप्रैल) को कहा कि वह रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के खिलाफ है और मुद्दे का समाधान रासायनिक हथियार संधि के प्रावधानों के अनुरूप किया जाना चाहिए। ऐसी खबरें हैं कि ब्रिटेन मुद्दे को लंदन में अगले हफ्ते होने वाली राष्ट्रमंडल प्रमुखों की बैठक में उठाएगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार से जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में सूचना नहीं है कि दोनों नेताओं ने क्या बात की।

हालांकि, उन्होंने कहा, ‘‘भारत कहीं भी, किसी के भी द्वारा, किसी भी स्थिति में रसायनिक हथियारों का इस्तेमाल किए जाने के खिलाफ है। हम उम्मीद करते हैं कि मुद्दे का समाधान रसायनिक हथियार संधि के प्रावधानों के अनुरूप होगा।’’ सीरिया के डोउमा शहर में कथित रासायनिक हमले की खबरों के बीच कुमार ने कहा कि इस तरह के हथियारों का कहीं भी इस्तेमाल रासायनिक हथियार संधि के खिलाफ है और ऐसा कृत्य करने वालों को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए।

डबल एजेंट सर्गेइ स्क्रिपल पर हमले का मामला
ब्रिटेन में चार मार्च को सालिसबरी में पूर्व डबल एजेंट सर्गेइ स्क्रिपल और उनकी बेटी यूलिया पर नर्व एजेंट से हमला किया गया, जिसमें वे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए थे। ब्रिटेन ने कहा कि इस हत्या के पीछे रूस के होने की ‘‘पूरी संभावना’’ है। हालांकि रूस ने आक्रामक रूप से इस आरोप को खारिज किया है। अमेरिका, यूरोपीय संघ के सदस्यों, नाटो देशों और अन्य देशो ने रूस के 150 से अधिक राजनयिकों को निष्कासित करने का आदेश दिया था और रूस ने भी इसका ऐसा ही जवाब दिया।

loading…

माल्टिंग्स शॉपिंग सेंटर में एक बेंच पर बेसुध पड़े थे सर्गेई स्क्रिपल
6 मार्च की खबर के मुताबिक एक पूर्व रूसी जासूस को किसी अज्ञात संदिग्ध चीज के संपर्क में आने की वजह से गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। विल्टशायर पुलिस ने कहा कि 60 से ज्यादा की उम्र का एक पुरुष और 30 साल से ज्यादा उम्र की एक महिला 5 मार्च (रविवार) दोपहर सेलिसबरी शहर के माल्टिंग्स शॉपिंग सेंटर में एक बेंच पर बेसुध पड़े मिले। दोनों के शरीर पर किसी तरह की चोट के निशान नहीं थे। सुरक्षा अधिकारी क्रेग होल्डन ने कहा कि हो सकता है कि दोनों एक दूसरे को जानते हों। उस दौरान दोनों की ही हालत गंभीर बनी हुई थी।

डीप कवर स्लीपर एजेंट
यह मामला इसलिए बड़ा है क्योंकि पूर्व रूसी जासूस सर्गेई स्क्रिपल (66) उन चार रूसी लोगों में से एक है जिसे 2010 में मॉस्को ने अमेरिका में 10 डीप कवर ‘स्लीपर’ एजेंट के तौर पर बदला था, जिसके बाद उसे ब्रिटेन में शरणार्थी का दर्जा दे दिया गया था। स्क्रिपल रूसी सैन्य खुफिया अधिकारी के पद से सेवानिवृत हुए थे। उन्हें ब्रिटेन के लिए जासूसी करने के आरोप में रूस ने 2006 में 13 साल के जेल की सजा सुनाई थी।

loading…

Related Articles