ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• हाँ मैं श्री राम की वंशज हूँ – बीजेपी सांसद दीया कुमारी
• जेडब्ल्यू मैरियट होटल में 442 रुपये में दो केलों के बाद मुंबई के होटल में दो उबले अंडों की कीमत 1,700 रुपये
• पाकिस्तान द्वारा स्थगित किए जाने के बाद भारत ने किया समझौता एक्सप्रेस को रद्द
• रजनीकांत ने पीएम मोदी, अमित शाह को कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी बताया, कहा कौन कृष्ण- कौन अर्जुन, वे ही जानते हैं
• पश्चिम बंगाल में गोमांस पहुंचाने के खिलाफ अनिश्चितकालीन हड़ताल पर Zomato के कर्मचारी
• भारतीय क्रिकेट टीम करेगी इस ‘माउंटेन मैन’ का मुकाबला, शानदार है इनका रिकॉर्ड
• आज होगा नया राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष घोषित, मुकुल वासनिक प्रबल दावेदार
• पाकिस्तान मुंबई पर करा सकता है 26/11 जैसा दूसरा आतंकवादी हमला, भारत स्थिति से निबटने के लिए तैयार
• कमलनाथ के भांजे और व्यवसायी रतुल पुरी के खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट जारी
• तबियत ख़राब होने के कारण अरुण जेटली एम्स में भर्ती, स्थिति नियंत्रण में
• सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- क्या रामलला का कोई वंशज अब भी अयोध्या में रह रहा है?
• विंग कमांडर अभिनंदन लड़ाकू विमानों को उड़ाने के लिए फिट घोषित, इस 15 अगस्त को मिल सकता है वीर चक्र
• पाकिस्तान ने एंटोनियो गुटेरेस को पत्र लिख की कश्मीर मामले में हस्तक्षेप की मांग, हाथ आयी निराशा
• कश्मीर में ईद से एक दिन पहले प्रतिबंध हटने की संभावना
• त्यौहार के मद्देनज़र कश्मीर में दो हेल्पलाइन 9419028242, 9419028251 जारी, यात्रियों के लिए ट्रेन-बस, खाने-पीने की सुविधा

बीजेपी के विधायक आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर नगर निगम के अधिकारी को बैट से मारा, हुए गिरफ्तार

मध्य प्रदेश पुलिस ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के विधायक आकाश विजयवर्गीय जो पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे भी हैं, को गिरफ्तार किया है। इंदौर में नगर निगम के अधिकारी जर्जर मकानों को तोड़ने आये हुए थे और लोगों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से उन ज़र्ज़र मकानों को खाली करा रहे थे।  

घटना का एक वीडियो, जिसमें पहली बार विधायक बने आकाश विजयवर्गीय नगर निगम (आईएमसी) के अधिकारी धीरेंद्र बैस को क्रिकेट के बल्ले के साथ मारते हुए दिखाई दे रहे हैं, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

आकाश विजयवर्गीय को गिरफ्तार किया गया और धारा 353 (एक सरकारी कर्मचारी को अपने कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकने के लिए हमला), 294 (अश्लील शब्दों का उपयोग करके अश्लील हरकतें), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 506 (आपराधिक धमकी), 147 (दंगा करने की सजा) और भारतीय दंड संहिता के 148 (दंगाई, एक घातक हथियार से लैस) के तहत आरोपित किया गया। इंदौर -3 विधानसभा क्षेत्र के विधायक को बाद में अदालत में पेश किया गया, जहाँ उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

भाजपा के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, “पार्टी इस मामले को देख रही है। हालांकि, विधायक आकाश विजयवर्गीय का आरोप है कि आईएमसी के अधिकारी महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार कर रहे थे और यह गंभीर है कि विध्वंस के पीछे कांग्रेस नेताओं की भूमिका है। ”कांग्रेस पार्टी मीडिया सेल की प्रभारी शोभा ओझा ने कहा,“ आकाश विजयवर्गीय झूठ बोल अपने गलत कृत्य को सही ठहरा रहे हैं। इस घटना में कोई कांग्रेस का मंत्री शामिल नहीं है। वास्तव में, आईएमसी ने उस भवन को गिराने के लिए 2018 में भी नोटिस जारी किया था।”

Related Articles