ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• कल से इन राज्यों में अमूल दूध दो रुपये और मदर डेरी तीन रुपये महंगा
• संजय राउत ने सावरकर पर अटल की पंक्तियाँ की ट्वीट, सावरकर माने तेज, त्याग, तप, तत्व
• राहुल सावरकर नहीं, आप हैं राहुल जिन्ना- भाजपा
• पश्चिम बंगाल पहला राज्य जहां लागू होगा नागरिकता संशोधन अधिनियम- भाजपा
• मनोहर पर्रिकर ने जाने से पहले अपना जोश मुझमे डाला- गोवा सीएम प्रमोद सावंत
• उदित राज बने कांग्रेस के प्रवक्ता
• नानावती कमीशन की रिपोर्ट गुजरात विधान सभा में पेश, नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट
• लोकसभा में नागरिकता विधेयक का समर्थन करने के बाद शिवसेना आयी बिल के विरोध में
• भारत के मुसलमानों को नागरिकता संशोधन बिल से नहीं डरना चाहिए- अमित शाह
• हमने छह महीने में जो किया है, वह 70 साल से नहीं किया गया- पीएम मोदी
• NHRC की टीम ने आरोपियों की ऑटोप्सी पर उठाए सवाल, तेलंगाना मुठभेड़ स्थल का किया दौरा
• यूपी सरकार ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के परिवार के लिए 25 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की, साथ में सरकारी मकान
• मायावती ने उन्नाव पीड़िता की मौत के बाद राज्यपाल आनंदीबेन से मामले में हस्तक्षेप करने का किया अनुरोध
• न्याय कभी बदले की भावना के साथ नहीं किया जाना चाहिए- मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे
• घटनस्थल की जांच करने मानवाधिकार टीम पहुंची हैदराबाद

फडणवीस के समर्थन में आयी NCP, कहा नहीं हो सकता ऐसे पैसा ट्रांसफर

कर्नाटक से भारतीय जनता पार्टी के पांच बार के सांसद अनंतकुमार हेगड़े ने सोमवार को दावा किया कि देवेंद्र फडणवीस 80 घंटे के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री सिर्फ केंद्र को 40,000 करोड़ रुपये वापस करने के लिए बने। कर्नाटक में उत्तरा कन्नड़ निर्वाचन क्षेत्र से संसद के सदस्य हेगड़े विवादास्पद टिप्पणी करने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने कहा कि हर कोई यह पूछ रहा है कि बीजेपी ने बिना संख्या के महाराष्ट्र में सरकार क्यों बनाई, उन्होंने फिर यह स्पष्टीकरण दिया। ये एक ऐसा दावा था जिसने फड़नवीस को टेलीविजन कैमरों के सामने खड़े होने होकर तुरंत इसका खंडन करने के लिए मजबूर किया।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं उस बयान और रिपोर्ट का खंडन करता हूं, कि मैंने केंद्र द्वारा महाराष्ट्र को भेजे गए पैसे लौटाए हैं।”

फडणवीस, जिनका दूसरा कार्यकाल महाराष्ट्र में एक मुख्यमंत्री का दूसरा सबसे छोटा कार्यकाल है,, ने कहा कि बुलेट ट्रेन परियोजना में राज्य सरकार की भूमिका महत्वाकांक्षी परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण तक सीमित थी।

पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि हर कोई जो यह समझता है कि केंद्र और राज्यों के बीच धन का आदान-प्रदान कैसे होता है, इस वक्तव्य (हेगड़े) को निराधार मानेगा। अनंत हेगड़े का दावा इतना विचित्र था कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नवाब मलिक भी इस पर न विश्वास करने से नहीं हिचके।

“यह संभव नहीं है,” नवाब मलिक ने कहा। लेकिन उन्होंने भाजपा और फड़नवीस पर तंज़ करने का मौका नहीं छोड़ा। ”अगर ऐसा हुआ है, तो यह भाजपा के चेहरे को उजागर करता है,” एनसीपी नेता ने कहा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला किया और उनके इस्तीफे की मांग की।

Related Articles