ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• जन्मदिन की वार्षिक भविष्यवाणी (12th July, 2018)
• अंकों से जानें, कैसा होगा आपका दिन (12th July, 2018)
• टैरो राशिफल (12th July, 2018)
• राशिफल (12th July, 2018)
• हमारी सरकार किसान कल्याण के लिए प्रतिबद्ध- पीएम मोदी
• बारिश के बाद भूस्खलन से हुई उत्तराखंड में 16 लोगों की मौत
• मुंबई में बारिश रूकने से राहत, लोकल रेल सेवाएं फिर हुई शुरू
• बीजू जनता दल और वाईएसआर कांग्रेस ने किया एक देश एक चुनाव का समर्थन
• जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, दो आतंकवादी हुए ढेर
• जन्मदिन की वार्षिक भविष्यवाणी (11th July, 2018)
• अंकों से जानें, कैसा होगा आपका दिन (11th July, 2018)
• आर्थिक राशिफल (11th July, 2018)
• टैरो राशिफल (11th July, 2018)
• राशिफल (11th July, 2018)
• मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई शहरों की भारी बारिश ने थामी रफ्तार

जानें भारत के किस राज्य में व्यापार करना है सबसे आसान

डीआईपीपी ने आसान कारोबार वाले राज्यों की रैंकिंग है जिसमें आंध्रप्रदेश ने सभी राज्यों को पीछे छोड़ते हुई बाजी मारी है, तेलंगाना दूसरे और हरियाणा तीसरे स्थान पर रहा, डीआईपीपी सचिव ने कहा भारत की ओवरऑल रैंकिंग पर इसका सकारात्मक असर पडेगा।

केंद्र सरकार देश में कारोबार को आसान बनाने के लिए लगातार काम कर रही है। उसकी कोशिशों का नतीजा है कि कारोबार सुगमता में भारत की रैंकिंग में भी जोरदार उछाल आया है। केंद्र सरकार राज्यों को भी इसके लिए प्रोत्साहन दे रही है। मंगलवार को औद्यौगिक नीति और संवर्धन विभाग डीआईपीपी ने आसान कारोबार वाले राज्यों की रैंकिंग जारी की।

रैंकिंग पर गौर करें तो–  रैंकिंग में आंध्रप्रदेश ने सभी राज्यों को पीछे छोड़ते हुई बाजी मार ली है। आंध्रप्रदेश को कुल 98.42 अंक मिले हैं। इसमें तेलंगाना को दूसरा स्थान मिला है और 98.33 अंक मिले हैं। रैंकिंग में हरियाणा तीसरे स्थान पर है और उसे 98.07 अंक मिले हैं। सूची में चौंथे स्थान पर झारखंड और पांचवें स्थान पर गुजरात है। झारखंड को कुल 97.99 फीसदी अंक मिले जबकि गुजरात को 97.96 फीसदी अंक मिले। लिस्ट में छत्तीसगढ़ छठे, मध्यप्रदेश सातवें और कर्नाटक आठवें स्थान पर रहा। राजस्थान को सूची में 95.68 अंक के साथ नौंवा स्थान मिला जबकि पश्चिम बंगाल दसवें नबंर पर रहा। रैंकिंग में हिमाचल प्रदेश , असम और बिहार सबसे तेज आगे बढने वाले राज्य के रुप में सामने आए हैं।

यह रैंकिंग विश्व बैंक और डीआईपीपी मिलकर तैयार करती है। इस रैंकिंग में कंस्ट्रक्शन परमिट, श्रम कानून, पर्यावरण रजिस्ट्रेशन, जमीन की उपलब्धता और सिंगल विंडो सिस्टम को पैमाना बनाया जाता है।

रैंकिग में आंध्र प्रदेश नंबर वन है इसका मतलब है कि यहां कारोबार करने की सबसे ज्यादा सहूलियत है। कारोबार सुगमता की रैंकिंग शुरू करने की सबसे बड़ी वजह यह है कि सरकार राज्यों में एक प्रतियोगिता चाहती थी. सरकार चाहती थी कि बिजनेस के लिए बेहतर माहौल मुहैया कराने में राज्य एक दूसरे से होड़ करें।

Related Articles