ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• सौरव गांगुली की बेटी सना ने नागरिकता कानून के खिलाफ किया पोस्ट, गांगुली ने किया खंडन
• मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे ने निर्भया मामले में दोषी अक्षय ठाकुर द्वारा दायर समीक्षा याचिका पर सुनवाई से खुद को किया अलग
• ममता बनर्जी ने एक अधिसूचना के जरिये NRC से जुड़े कार्यों को पश्चिम बंगाल में रोका
• मऊ में उपद्रवियों ने थाना फूँका, स्थिति नियंत्रण में आयी
• अयोध्या में चार महीनों में आरम्भ होगा एक गगनचुम्बी श्री राम मंदिर का निर्माण-अमित शाह
• पायल रोहतगी की ज़मानत की अर्ज़ी ख़ारिज, रहेंगी 24 दिसंबर तक जेल में
• उद्धव सरकार में दरार, हर बड़ा नेता मंत्री बनाने को बेक़रार
• राहुल गांधी की टिप्पणी के विरोध में “मैं भी सावरकर”
• दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सामने बढ़ा विरोध प्रदर्शन, कल दक्षिण पूर्वी दिल्ली के स्कूल बंद
• जूता छुपाई पर दूल्हे ने की मारपीट, दुल्हन ने करवा दिया कैद
• दिल्ली में नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने बसों को आग लगाईं, कारों और बाइकों को तोडा
• भाजपा ने नागरिकता संशोधन विधेयक के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान की घोषणा की
• प्रशांत किशोर ने कहा नीतीश कुमार भी करेंगे NRC का विरोध, नहीं करेंगे राज्य में लागू
• वीर सावरकर पर टिप्पणी के लिए राहुल गांधी को बिना शर्त मांगनी चाहिए माफ़ी- देवेंद्र फडणवीस
• पीएम मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को उनकी पुण्यतिथि पर किया नमन, योगी ने कहा NRC उनको सच्ची श्रद्धांजलि

अजित पवार का इस्तीफा, देवेंद्र फडणवीस भी दे सकते हैं त्यागपत्र

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के 60 वर्षीय नेता अजीत पवार, जिन्होंने महाराष्ट्र में देवेंद्र फड़नवीस सरकार को अपनी पार्टी का समर्थन देने का वादा किया था, ने उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार को बाहर करने के लिए उन्हें मनाने के लिए एनसीपी द्वारा लगातार प्रयासों के बाद पवार का सरकार से बाहर आना तय है। इस तरह का आखिरी प्रयास आज सुबह किया गया था, उसी समय जब सुप्रीम कोर्ट ने फडनवीस के फ्लोर टेस्ट करने के लिए अपना फैसला सुनाया। इस फैसले के बाद फडणवीस सरकार मुश्किल में आ गयी।

अजीत पवार के बाहर निकलने से देवेंद्र फडणवीस की तीन-दिवसीय सरकार को खतरा हो सकता है जिसने पवार के पत्र के बल पर दावा किया था कि 54 राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी भारतीय जनता पार्टी सरकार का समर्थन करती है।

लेकिन राकांपा के बॉस शरद पवार ने अपने भतीजे अजीत पवार से तुरंत दूरी बना ली और उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना और कांग्रेस के गठबंधन के साथ बने रहे।

अजित पवार के इस्तीफे के बाद अब देवेंद्र फडणवीस का इस्तीफा किसी भी पल आ सकता है।

Related Articles