ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• पाकिस्तानी क्रिकेट प्रेमी अब करेंगे भारत की जीत की दुआ
• हज़ारों वर्षों से अस्तित्व में है हिन्दू धर्म, फिर मिला ये प्रमाण
• मंगरू पाहन की मृत्यु लिंचिंग में गिनी जाएगी क्या?
• दो मामलों में आकाश विजयवर्गीय को मिली ज़मानत, एक मामला लंबित
• योगी सरकार ने किया इन 17 जातियों को अनुसूचित सूची में शामिल, सपा-बसपा सकते में
• सुबह 9 बजे दफ्तर पहुंचने के योगी के आदेश से नौकरशाही परेशान
• राजधानी, शताब्दी जैसी ट्रेनों के निजीकरण की कोई योजना नहीं – पीयूष गोयल
• नेहरू और कांग्रेस की वजह से है कश्मीर समस्या, पटेल को दिया धोखा- अमित शाह
• हुआ ऐसे तार-तार जय भीम और जय मीम का झूठा गठजोड़!
• ब्राह्मणों को गाली! अनुभव सिन्हा हम जैसे लोग आपको बड़ा बनाते हैं!
• लिंचिंग से नहीं दिल का दौरा पड़ने से हुई थी तबरेज की मृत्यु
• संजय गांधी की सनक की वजह से आपातकाल में हुआ ऐसा
• तेज प्रताप आज नया मंच ‘तेज सेना’ करेंगे लॉन्च, भाजपा ने की प्रशंसा
• अमित शाह ने अमरनाथ यात्रा के दौरान यात्रियों के लिए सर्वोत्तम संभव व्यवस्था करने का भरोसा दिलाया
• झूठी हैं लिंचिंग की ये घटनाएं, रहें सावधान

नरेंद्र मोदी ने दिलाई योग दिवस को विश्व पटल पर स्वीकृति

योग हमारे जीवन का एक सबसे महत्वपूर्ण आयाम है और योग ही है जिससे रोग भाग सकते हैं। नरेंद्र मोदी सरकार के आने के बाद भारत को ही नहीं बल्कि भारतीय परम्पराओं एवं योग आदि को जिस प्रकार विश्व पटल पर स्वीकृति प्राप्त हुई है, वह अतुलनीय है। आज विश्व योग दिवस के अवसर पर यह गर्व की भावना और बढ़ जाती है।

इस वर्ष प्रधानमंत्री मोदी रांची में योगदिवस मना रहे हैं। उनके साथ झारखंड के मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास भी उपस्थित हैं। प्रधानमंत्री प्रभात तारा मैदान में लगभग 28 हजार लोगों के साथ योग करेंगे। इस वर्ष पांचवा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है और यही कारण है कि मुख्य नेता भिन्न भिन्न स्थानों पर योग कर रहे है । गृह मंत्री अमित शाह हरियाणा के रोहतक में और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राजपथ पर योग करेंगे।

ज्ञात हो कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रधानमंत्री मोदी की पहल से हुई थी। इस दिवस का आयोजन 2015 से किया जा रहा है। इस साल 5वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस है। इस वर्ष कार्यक्रम का मुख्य विषय ‘हृदय के लिए योग’ (योगा फॉर हार्ट) रखा गया है।

आज के इस अवसर पर बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब मुझे आधुनिक योग की यात्रा शहरों से गांवों की तरफ ले जानी है, गरीब और आदिवासी के घर तक ले जानी है। मुझे योग को गरीब और आदिवासी के जीवन का भी अभिन्न हिस्सा बनाना है। क्योंकि ये गरीब ही है जो बीमारी की वजह से सबसे ज्यादा कष्ट पाता है।

योग दिवस का आयोजन देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी किया जा रहा है। भारत के पड़ोसी देश नेपाल में बड़ी संख्या में लोग योग कर रहे हैं। भारतीय दूतावास ने जनकपुर में योग कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम का आयोजन जानकी मंदिर में किया गया।

इसीके साथ रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी दिल्ली में राजपथ पर योग कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले हैं तो वहीं योग गुरु बाबा रामदेव महाराष्ट्र में।

देश के विभिन्न हिस्सों से लोगों के कई तरह के योग करने की तस्वीरें आ रही हैं। योग को लेकर जनता में एक स्वत: उत्साह है।

Related Articles