ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• पाकिस्तानी क्रिकेट प्रेमी अब करेंगे भारत की जीत की दुआ
• हज़ारों वर्षों से अस्तित्व में है हिन्दू धर्म, फिर मिला ये प्रमाण
• मंगरू पाहन की मृत्यु लिंचिंग में गिनी जाएगी क्या?
• दो मामलों में आकाश विजयवर्गीय को मिली ज़मानत, एक मामला लंबित
• योगी सरकार ने किया इन 17 जातियों को अनुसूचित सूची में शामिल, सपा-बसपा सकते में
• सुबह 9 बजे दफ्तर पहुंचने के योगी के आदेश से नौकरशाही परेशान
• राजधानी, शताब्दी जैसी ट्रेनों के निजीकरण की कोई योजना नहीं – पीयूष गोयल
• नेहरू और कांग्रेस की वजह से है कश्मीर समस्या, पटेल को दिया धोखा- अमित शाह
• हुआ ऐसे तार-तार जय भीम और जय मीम का झूठा गठजोड़!
• ब्राह्मणों को गाली! अनुभव सिन्हा हम जैसे लोग आपको बड़ा बनाते हैं!
• लिंचिंग से नहीं दिल का दौरा पड़ने से हुई थी तबरेज की मृत्यु
• संजय गांधी की सनक की वजह से आपातकाल में हुआ ऐसा
• तेज प्रताप आज नया मंच ‘तेज सेना’ करेंगे लॉन्च, भाजपा ने की प्रशंसा
• अमित शाह ने अमरनाथ यात्रा के दौरान यात्रियों के लिए सर्वोत्तम संभव व्यवस्था करने का भरोसा दिलाया
• झूठी हैं लिंचिंग की ये घटनाएं, रहें सावधान

आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने कार्यकाल समाप्त होने से 6 महीने पहले दिया इस्तीफा

आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य, जो मौद्रिक नीति विभाग के प्रभारी थे, ने अपने निर्धारित कार्यकाल के समाप्त होने से से छह महीने पहले इस्तीफा दे दिया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) में पिछले छह महीनों में यह दूसरा हाई प्रोफाइल इस्तीफा है।

दिसंबर में, गवर्नर उर्जित पटेल ने सरकार के साथ मतभेदों पर अपना निर्धारित कार्यकाल समाप्त होने से लगभग नौ महीने पहले इस्तीफा दे दिया था। सितंबर 2016 में पटेल को गवर्नर के पद पर पदोन्नत किए जाने के बाद आचार्य 23 जनवरी, 2017 को केंद्रीय बैंक में शामिल हुए थे।

आरबीआई के पास अब तीन डिप्टी गवर्नर एन एस विश्वनाथन, बी पी कानूनगो और एम के जैन बचे हैं। न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर विरल आचार्य, जिन्होंने कभी खुद को ‘गरीब आदमी का रघुराम राजन’ कहा था, को तीन साल के लिए नियुक्त किया गया था।

Related Articles