ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• जन्मदिन की वार्षिक भविष्यवाणी (12th July, 2018)
• अंकों से जानें, कैसा होगा आपका दिन (12th July, 2018)
• टैरो राशिफल (12th July, 2018)
• राशिफल (12th July, 2018)
• हमारी सरकार किसान कल्याण के लिए प्रतिबद्ध- पीएम मोदी
• बारिश के बाद भूस्खलन से हुई उत्तराखंड में 16 लोगों की मौत
• मुंबई में बारिश रूकने से राहत, लोकल रेल सेवाएं फिर हुई शुरू
• बीजू जनता दल और वाईएसआर कांग्रेस ने किया एक देश एक चुनाव का समर्थन
• जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, दो आतंकवादी हुए ढेर
• जन्मदिन की वार्षिक भविष्यवाणी (11th July, 2018)
• अंकों से जानें, कैसा होगा आपका दिन (11th July, 2018)
• आर्थिक राशिफल (11th July, 2018)
• टैरो राशिफल (11th July, 2018)
• राशिफल (11th July, 2018)
• मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई शहरों की भारी बारिश ने थामी रफ्तार

उन्नाव गैंगरेप केस- योगी सरकार ने किया एसआईटी का गठन, शाम तक एसआईटी सौंपेगी अपनी पहली रिपोर्ट

उन्नाव में युवती से रेप और फिर पिता के साथ हुई निर्ममता के बाद मौत के बाद हंगामा मचा हुआ है। मामले की जांच के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार (10 अप्रैल) को SIT का गठन किया। योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद आज जांच टीम उन्नाव का दौरा कर सकती है और कहा जा रहा है कि शाम तक टीम अपनी पहली रिपोर्ट सौंप सकती है।

बीजेपी विधायक के भाई को पुलिस ने किया गिरफ्तार
मामले पर एक्शन में आई योगी सरकार की ओर से एसआईटी का गठन किए जाने के बाद पुलिस भी हरकत में आ गई है। पुलिस ने आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह सेंगर समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। अतुल सिंह पर रेप पीड़िता के पिता के साथ मारपीट का आरोप है। अतुल सिंह पर पीड़िता के पिता की मौत के मामले में हत्या की धारा 302 भी लगा दी गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, पिटाई से पीड़िता के पिता की बड़ी आंत फट गई थी, जिसके कारण उसकी मौत हो गई।

6 पुलिस अधिकारी सस्पेंड- एडीजी
इस मामले में यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने दावा किया है कि पीड़ित के पिता की मौत पुलिस थान में नहीं हुई। उन्होंने यह भी कहा है कि इस मामले में अब तक 6 पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि पीड़ित के पिता को पुलिस ने हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

loading…

हर पहलू की होगी गहनता से जांच- पुलिस
प्रदेश के एडीजी (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि उन्नाव मामले की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन कर दिया गया है। एडीजी (लखनऊ जोन) राजीव कृष्णा की अध्यक्षता में एसआईटी गठित की गई है। एसपी क्राइम ब्रांच के नेतृत्व में उनकी टीम रहेगी। टीम में डीएसपी श्वेता श्रीवास्तव, इंस्पेक्टर अक्षय कुमार, इंस्पेक्टर अवधान पांडे इंस्पेक्टर जेपी यादव शामिल हैं। उन्होंने बताया कि पीड़िता ने अपनी शिकायत में विधायक के अलावा भी कई लोगों का नाम लिया है। हालांकि 11 जून 2017 को दर्ज एफआईआर में विधायक सेंगर का नाम नहीं था, लेकिन 22 अगस्त 2017 को विधायक का नाम सामने आया था। इस मामले की भी जांच की जाएगी कि एफआईआर के मामले में उन्नाव पुलिस की रिपोर्ट सही थी या नहीं। उन्होंने कहा कि इस प्रकरण के जितने भी पहलू है, उनका गहन अध्ययन करते हुए जो भी उचित कार्यवाही बनती है, वह की जाएगी।

पीड़ित के पिता से जबरदस्ती लगवाया गया अंगूठा
इस मामले में रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं। 10 अप्रैल को इस मामले से जुड़ा हुआ एक और वीडियो सामने आया, इस वीडियो में देखा जा सकता है कि पीड़िता के पिता जख्मी हालात में दिख रहे है। यह वीडियो 3 अप्रैल का बताया जा रहा है। इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि पीड़िता के पिता के शरीर पर कितने घाव है और उसका हर अंग जख्मी है। इस वीडियो में डॉक्टर यह कहते दिख रहे हैं कि यहां इस व्यक्ति को दो पुलिसवाले लाए हैं और झगड़े का मामला है। वीडियो में पीड़ित के पिता यह कहते दिख रहे हैं कि उन्हें उनकी बेटी के साथ गैंगरेप के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह ने मारा है। उन्होंने कहा कि पुलिस खड़ी-खड़ी देखती रही और अतुल सिंह और उसके भाई मुझे पीटते रहे। पीड़िता के पिता ने बताया कि विधायक के भाई ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उन्होंने मेरी बेटी के साथ गलत काम किया था।

loading…

Related Articles