ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• मोबाइल फोन से सुलगता बचपन
• प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की विदेश यात्राओं पर पुनः एक बार हंगामा क्यों?
• अहंकार की राजनीति से नैया पार नहीं होती
• लंदन में विजय माल्या का विरोध, भारत बदल रहा है
• कठुआ काण्ड में क्या हुआ न्याय?
• गिरीश कर्नाड का जाना एक सोच का अंत
• अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर कुंठा?
• जाति के झूठे नैरेटिव में फंसा रैगिंग का मुद्दा
• इजरायल ने माना भारत को अपना सबसे अच्छा मित्र
• बंगाल में क्यों हुआ खूनी संघर्ष?
• जन्मदिन की वार्षिक भविष्यवाणी (13th July, 2018)
• आर्थिक राशिफल (13th July, 2018)
• अंकों से जानें, कैसा होगा आपका दिन (13th July, 2018)
• टैरो राशिफल (13th July, 2018)
• राशिफल (13th July, 2018)

तेज प्रताप यादव ने पहले अपनी मां और भाई के खिलाफ लिखा फिर हैक का बहाना कर मढ़ा बीजेपी पर दोष

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने अपने फेसबुक पेज पर राजनीति छोड़ने को लेकर की गई पोस्ट को लेकर कहा है कि उनका पेज हैक कर लिया गया था। तेज प्रताप ने आरोप लगाया कि बीजेपी के लोगों ने उनका फेसबुक पेज हैक करके परिवार और पार्टी में फूट डालने की कोशिश की है।

मैं आप सब को बताना चाहता हूँ कि मेरा फेसबुक एकाउंट हैक कर लिया गया था जो फेसबुक की मदद से अब रिकवर हो पाया। भाजपा के लोग…

Posted by Tej Pratap Yadav on Monday, July 2, 2018

पुरानी पोस्ट को डिलीट करके तेज प्रताप ने कहा कि तेजस्वी उनका अर्जुन है और रहेगा, कोई जितनी चाहे चाल चले, वह सफल नहीं होगा। तेजस्वी ने एक के बाद एक कई पोस्ट करते हुए लिखा, ‘मेरे पिता का फेसबुक पेज भी आरएसएस के एक समर्थक के द्वारा हैक किया गया था, वह हैकर जेल में भी रहा था। अब बीजेपी आईटी सेल के लोग मेरा पेज हैक करके हमारे परिवार के बारे में दुष्प्रचार कर रहे हैं।’ तेज प्रताप ने लिखा कि उनके बढ़ते प्रभाव से बौखलाकर विरोधी निम्न स्तर की राजनीति कर रहे हैं।

आपको बता दें कि सोमवार देर शाम एक फेसबुक पोस्ट में तेज प्रताप के फेसबुक पेज पर लिखी गई पोस्ट में कहा गया था कि उनकी पार्टी के लोग उनके बारे में अफवाह फैलाने का काम कर रहे हैं और जब वह इसकी शिकायत अपनी मां राबड़ी देवी से करते हैं तो उन्हें ही डांट पड़ जाती है। पोस्ट में लिखा गया था कि उनकी शिकायत को उनके माता-पिता (लालू यादव और राबड़ी देवी) भी नहीं सुन रहे और इस कारण वह काफी दबाव में हैं। अगर यह ठीक नहीं हुआ तो वह राजनीति छोड़ देंगे।

Related Articles