ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• पाकिस्तानी क्रिकेट प्रेमी अब करेंगे भारत की जीत की दुआ
• हज़ारों वर्षों से अस्तित्व में है हिन्दू धर्म, फिर मिला ये प्रमाण
• मंगरू पाहन की मृत्यु लिंचिंग में गिनी जाएगी क्या?
• दो मामलों में आकाश विजयवर्गीय को मिली ज़मानत, एक मामला लंबित
• योगी सरकार ने किया इन 17 जातियों को अनुसूचित सूची में शामिल, सपा-बसपा सकते में
• सुबह 9 बजे दफ्तर पहुंचने के योगी के आदेश से नौकरशाही परेशान
• राजधानी, शताब्दी जैसी ट्रेनों के निजीकरण की कोई योजना नहीं – पीयूष गोयल
• नेहरू और कांग्रेस की वजह से है कश्मीर समस्या, पटेल को दिया धोखा- अमित शाह
• हुआ ऐसे तार-तार जय भीम और जय मीम का झूठा गठजोड़!
• ब्राह्मणों को गाली! अनुभव सिन्हा हम जैसे लोग आपको बड़ा बनाते हैं!
• लिंचिंग से नहीं दिल का दौरा पड़ने से हुई थी तबरेज की मृत्यु
• संजय गांधी की सनक की वजह से आपातकाल में हुआ ऐसा
• तेज प्रताप आज नया मंच ‘तेज सेना’ करेंगे लॉन्च, भाजपा ने की प्रशंसा
• अमित शाह ने अमरनाथ यात्रा के दौरान यात्रियों के लिए सर्वोत्तम संभव व्यवस्था करने का भरोसा दिलाया
• झूठी हैं लिंचिंग की ये घटनाएं, रहें सावधान

इस मुख्यमंत्री ने कहा, मोदी को वोट दिया तो मदद भी उन्हीं से मांगो!

केन्द्र और राज्य सरकारों में एक तालमेल होता है, और जब वह तालमेल टूटता है तो व्यवस्था नहीं चल सकती। जनता इतनी समझदार है कि वह जानती है कि केन्द्र और राज्य में किसे सत्ता सौंपनी है। मगर मुख्यमंत्रियों को यह बात रास नहीं आती कि उनके राज्य से कोई और दल जीत जाए। और यदि वह दल कोंग्रेस या अन्य है तो उनसे सामान्य शिष्टाचार की भी आप उम्मीद नहीं कर सकते।

कर्नाटक में मुख्यमंत्री कुमार स्वामी बार बार गठबंधन की सरकार में अपनी बेचारी का रोना रोते हैं और यही कारण है कि बार बार उन्हें गुस्सा आता है। और वह रोते हुए नज़र आते हैं। मगर वह जनता को इस बात के लिए माफ़ नहीं करते कि उसने मोदी को वोट दिया है, कुमार स्वामी जी, जिस तरह आप बार बार अपनी सरकार के लिए रोते हैं, क्या आपको केन्द्र में भी इतनी ही विवश सरकार चाहिए थी कि जो भी पद पर जाए वह रोता ही रहे।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री को उस समय गुस्सा आया जब रायचूर जिले में कुछ प्रदर्शनकारियों ने उनके सामने प्रदर्शन किया। उस पर कुमारस्वामी ने कहा “तुम लोगों ने नरेंद्र मोदी को वोट दिया है और मुझसे उम्मीद करते हो कि मैं तुम्हारी समस्या सुलझाऊं!”

उनका गुस्सा इतने पर भी नहीं रुका, उन्होंने कहा “क्या मुझे आप लोगों का आदर करना चाहिए?” और कथित रूप से वह वीडियो में यह भी बोलते हुए दिख रहे हैं कि क्या मैं लाठी चार्ज कराऊँ!”

कुमार स्वामी जी, आप अपनी प्रतिभा के कारण नहीं बल्कि कोंग्रेस की कृपा के कारण मुख्यमंत्री बने हैं। और बार बार कोंग्रेस के प्रति अपनी कृतज्ञता आप दिखाते रहते हैं। कृपया राजनीतिक विरोध में इतना नीचे भी न चले जाएं कि जनता आपको अगली बार आपकी ही सीट जीतने लायक न छोड़े।

यदि जनता ने लोकसभा में आपकी पार्टी को वोट नहीं दिया तो समय आपके अपने गिरेबान में झांकने का है, क्योंकि मोदी सुनामी में ओडिशा में नवीन पटनायक लोकसभा में भी अच्छी सीटें निकालने में सफल हुए हैं क्योंकि वह जनता के लिए काम करते हैं।

जनता को दुत्कारिये नहीं बल्कि गले लगाइए क्योंकि नेता का यही फर्ज है।

Related Articles