ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• कांग्रेस ने PM मोदी की ‘ऐतिहासिक योजना’ का वीडियो शेयर कर उड़ाया मजाक़, कहा- ‘आपकी नियत’ खराब है
• कांग्रेस की सबसे ‘कमजोर नस’ को आज दबाएगी BJP, देशभर में करेगी विरोध-प्रदर्शन
• अमित शाह को आया गुस्सा, जानें किसे सुनाई खरी-खरी
• ऊंटनी का दूध पीने से होने वाले फायदे जानकर चौंक जाएंगे आप
• ओवैसी के भड़काऊ बोल, ‘मुस्लिमों जिंदा रहना चाहते हो तो अपने उम्मीदवार को वोट दो’
• 2019 चुनाव में ईवीएम पर प्रतिबंध लगाए जाने पर भारत में होगा गुंडाराज, जानिये कैसे
• अनकही कहानी- ऐसे बिताए प्रधानमंत्री मोदी ने आपातकाल के दौरान अपने दिन!
• दूल्हे ने ‘दहेज’ में मांगे 1000 पौधे और बारातियों को मिला अनोखा गिफ्ट
• लगातार 27वें दिन और सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, जानें आज का भाव
• शिखर धवन ने विराट कोहली और धोनी को बताया अपना राम लखन, गया ये गाना
• मोदी सरकार का ऑफर- 25 साल तक मिलेगी मुफ्त बिजली, बस करना होगा ये एक काम
• सपना चौधरी के कांग्रेस में शामिल होने पर तिलमिलाए BJP सांसद, दिया विवादित बयान
• भगवान शिव की पूजा करते समय अपनाएं यह विधि, शीघ्र होगी हर ईच्छा पूरी
• जन्मदिन की वार्षिक भविष्यवाणी (25th June, 2018)
• आर्थिक राशिफल (25th June, 2018)

भारत आने को तैयार है दाऊद इब्राहिम लेकिन उसने रखी कुछ शर्तें

मशहूर आपराधिक वकील श्याम केसवानी ने मंगलवार को अपने एक बयान में कहा है कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कासकर भारत वापस लौटना चाहता है। दाऊद ने इसके लिए कुछ शर्तें रखी हैं, लेकिन भारत सरकार को ये शर्तें मंजूर नहीं हैं। ठाणे कोर्ट के बाहर मीडिया से बातचीत के दौरान केसवानी ने कहा कि दाऊद इब्राहिम की मांग है कि गिरफ्तारी के बाद उसे उच्च सुरक्षा वाली मुंबई की आर्थर रोड सेंट्रल जेल में ही रखा जाना चाहिए। बता दें, दाऊद इब्राहिम का भाई इब्राहिम कासकर जबरन वसूली के एक केस में इन दिनों जेल में बंद हैं। केसवानी इब्राहिम के वकील हैं और उसी के केस के सिलसिले में ठाणे कोर्ट आए थे।केसवानी ने ये भी कहा  उसने (दाऊद) ने कुछ साल पहले (पूर्व केन्द्रीय मंत्री और मशहूर वकील) राम जेठमलानी के द्वारा भी अपनी यह इच्छा सरकार को बतायी थी  लेकिन भारत सरकार ने वापसी के लिए उसकी किसी भी मांग को मानने से इनकार कर दिया।” उल्लेखनीय है कि आर्थर रोड सेंट्रल जेल वही जेल है

loading…

जिसमें पाकिस्तानी आतंकवादी और मुंबई हमलों में जिंदा पकड़ा गया आतंकी अजमल कसाब 4 सालों तक बंद था। उसके बाद इसी जेल में उसे फांसी दे दी गई थी। गौरतलब है कि वकील श्याम केसवानी का बयान मनसे चीफ राज ठाकरे के उस बयान के 6 माह बाद आया है, जिसमें राज ठाकरे ने कहा था कि दाऊद इब्राहिम भारत वापस लौटना चाहता है, लेकिन इसके लिए वह मोदी सरकार के साथ ‘सेटलमेंट’ करना चाहता है। राज ठाकरे ने कहा था कि दाऊद इब्राहिम काफी बीमार है और अपनी आखिरी सांस भारत में लेना चाहता है।

वहीं, दूसरी तरफ जमीन हथियाने और जबरन वसूली के मामले में इब्राहिम कासकर को ठाणे की विशेष अदालत ने शुक्रवार तक के लिए हिरासत में भेज दिया है। इब्राहिम कासकर पर आरोप है कि उसने एक बिल्डर द्वारा 38 एकड़ जमीन खरीद के मामले में 3 करोड़ रुपए की जबरन वसूली की थी। इस मामले में दाऊद इब्राहिम और उसके भाइयों अनीस और इकबाल को भी आरोपी बनाया गया है। मामले के अन्य 2 आरोपी भंवर कोठार और भारत जैन फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।
कोर्ट में थाने पुलिस ने इकबाल कासकर की रिमांड बढ़ाने की मांग की थी। पुलिस ने कोर्ट से कहा कि उसके खिलाफ फिरौती के कुछ मामलों में जरूरी पूछताछ करनी है इसलिए उसके रिमांड की अवधि बढ़ा दी जाए। कोर्ट ने पुलिस के दर्ख्वास्त को मानते हुए इकबाल को 9 मार्च तक की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।

loading…

Related Articles