ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• सौरव गांगुली की बेटी सना ने नागरिकता कानून के खिलाफ किया पोस्ट, गांगुली ने किया खंडन
• मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे ने निर्भया मामले में दोषी अक्षय ठाकुर द्वारा दायर समीक्षा याचिका पर सुनवाई से खुद को किया अलग
• ममता बनर्जी ने एक अधिसूचना के जरिये NRC से जुड़े कार्यों को पश्चिम बंगाल में रोका
• मऊ में उपद्रवियों ने थाना फूँका, स्थिति नियंत्रण में आयी
• अयोध्या में चार महीनों में आरम्भ होगा एक गगनचुम्बी श्री राम मंदिर का निर्माण-अमित शाह
• पायल रोहतगी की ज़मानत की अर्ज़ी ख़ारिज, रहेंगी 24 दिसंबर तक जेल में
• उद्धव सरकार में दरार, हर बड़ा नेता मंत्री बनाने को बेक़रार
• राहुल गांधी की टिप्पणी के विरोध में “मैं भी सावरकर”
• दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सामने बढ़ा विरोध प्रदर्शन, कल दक्षिण पूर्वी दिल्ली के स्कूल बंद
• जूता छुपाई पर दूल्हे ने की मारपीट, दुल्हन ने करवा दिया कैद
• दिल्ली में नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने बसों को आग लगाईं, कारों और बाइकों को तोडा
• भाजपा ने नागरिकता संशोधन विधेयक के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान की घोषणा की
• प्रशांत किशोर ने कहा नीतीश कुमार भी करेंगे NRC का विरोध, नहीं करेंगे राज्य में लागू
• वीर सावरकर पर टिप्पणी के लिए राहुल गांधी को बिना शर्त मांगनी चाहिए माफ़ी- देवेंद्र फडणवीस
• पीएम मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को उनकी पुण्यतिथि पर किया नमन, योगी ने कहा NRC उनको सच्ची श्रद्धांजलि

पायल रोहतगी की ज़मानत की अर्ज़ी ख़ारिज, रहेंगी 24 दिसंबर तक जेल में

बॉलीवुड अभिनेत्री पायल रोहतगी को सोमवार को 24 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में बूंदी सेंट्रल जेल भेज दिया गया, क्योंकि स्थानीय अदालत ने सोशल मीडिया पर नेहरू-गांधी परिवार के खिलाफ उनकी कथित आपत्तिजनक टिपण्णी से संबंधित मामले में उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी।

बूंदी पुलिस अधीक्षक ममता गुप्ता ने पीटीआई को बताया कि अहमदाबाद में उनके निवास से बूंदी लाए जाने के एक दिन बाद उन्हें अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अदालत में पेश किया गया।

इस बीच, रोहतगी के कानूनी सलाहकार भूपेंद्र सहाय सक्सेना ने जमानत अर्जी खारिज करने की पुष्टि की लेकिन उन्होंने कहा कि वह ज़मानत के लिए उच्च न्यायालय का रुख करेंगे। पूर्व बिग बॉस प्रतियोगी ने मोतीलाल नेहरू, जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी और परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ 6 और 21 सितंबर को फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर सहित सोशल मीडिया साइटों पर आपत्तिजनक सामग्री पोस्ट की थी।

राज्य युवा कांग्रेस के महासचिव और बूंदी के निवासी, चार्मेश शर्मा ने आपत्तिजनक सामग्री की प्रतियों के साथ एक शिकायत की थी जिसके बाद अभिनेत्री के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

कांग्रेस सदस्य ने अभिनेत्री के खिलाफ शिकायत में आरोप लगाया था कि आपत्तिजनक सामग्री ने देश की छवि को धूमिल किया और एक महिला के चरित्र को अपमानित करने के अलावा अश्लीलता, धार्मिक घृणा फैलाई।

अभिनेत्री को 10 अक्टूबर को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66 और 67 के तहत बूंदी पुलिस द्वारा बुक किया गया था। उन्हें इस महीने की शुरुआत में नोटिस दिया गया था और इस संबंध में जवाब प्रस्तुत करने के लिए कहा गया था।

Related Articles