ताज़ा खबर

ताज़ा खबर
• कल से इन राज्यों में अमूल दूध दो रुपये और मदर डेरी तीन रुपये महंगा
• संजय राउत ने सावरकर पर अटल की पंक्तियाँ की ट्वीट, सावरकर माने तेज, त्याग, तप, तत्व
• राहुल सावरकर नहीं, आप हैं राहुल जिन्ना- भाजपा
• पश्चिम बंगाल पहला राज्य जहां लागू होगा नागरिकता संशोधन अधिनियम- भाजपा
• मनोहर पर्रिकर ने जाने से पहले अपना जोश मुझमे डाला- गोवा सीएम प्रमोद सावंत
• उदित राज बने कांग्रेस के प्रवक्ता
• नानावती कमीशन की रिपोर्ट गुजरात विधान सभा में पेश, नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट
• लोकसभा में नागरिकता विधेयक का समर्थन करने के बाद शिवसेना आयी बिल के विरोध में
• भारत के मुसलमानों को नागरिकता संशोधन बिल से नहीं डरना चाहिए- अमित शाह
• हमने छह महीने में जो किया है, वह 70 साल से नहीं किया गया- पीएम मोदी
• NHRC की टीम ने आरोपियों की ऑटोप्सी पर उठाए सवाल, तेलंगाना मुठभेड़ स्थल का किया दौरा
• यूपी सरकार ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के परिवार के लिए 25 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की, साथ में सरकारी मकान
• मायावती ने उन्नाव पीड़िता की मौत के बाद राज्यपाल आनंदीबेन से मामले में हस्तक्षेप करने का किया अनुरोध
• न्याय कभी बदले की भावना के साथ नहीं किया जाना चाहिए- मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे
• घटनस्थल की जांच करने मानवाधिकार टीम पहुंची हैदराबाद

SPG हटने के बाद प्रियंका की सुरक्षा में सेंध, घर में घुस आये संदिग्ध लोग, प्रियंका ने कराया नाश्ता

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा के लोधी एस्टेट में पिछले सप्ताह एक सुरक्षा उल्लंघन हुआ जब कुछ अज्ञात लोगों ने अंदर घुस कर सेल्फी लेने की कोशिश की। सूत्रों ने कहा कि प्रियंका गांधी के कार्यालय ने सीआरपीएफ के साथ मामला उठाया है।

सूत्रों के अनुसार उनके घर में एक संदिग्ध गाड़ी घुस आई, जिसमें कई लोग सवार थे। मिली जानकारी के मुताबिक प्रियंका गांधी वाड्रा के आवास के भीतर तीन महिलाएं और तीन पुरुष एक बच्चे के साथ घुस आए थे। जब वो गाड़ी से उतरे तो प्रियंका गांधी उनसे मिलीं और पूछा कि आखिर वो कहां से आ रहे हैं? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि वो उनके फैन हैं और उनसे मिलने के लिए आए हैं। इसके बाद प्रियंका गांधी ने उन लोगों को चाय नाश्ता भी कराया। बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी उस वक्त एक बहुत महत्वपूर्ण बैठक ले रही थीं।

घटना के बाद सीआरपीएफ और दिल्ली पुलिस ने प्रियंका गांधी की सुरक्षा में चूक का ठीकरा एक-दूसरे पर फोड़ा। सीआरपीएफ ने अपनी दलील में कहा कि एक्सेस का जिम्मा दिल्ली पुलिस का है। वहीं, दिल्ली पुलिस का कहना है कि उनको किसी ने गेट खोलने का आदेश दिया था, तभी उन्होंने दरवाजा खोला था। सीआरपीएफ सूत्रों के मुताबिक यह घटना 26 नंवबर को करीब 2 बजे घटी।

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के परिवार को, जिनकी 21 मई, 1991 को एलटीटीई आतंकवादियों द्वारा हत्या की गई थी, एसपीजी (स्पेशल टेक्शन ग्रुप) कवर दिया गया था, जिसे केंद्र सरकार ने पिछले महीने  बदल कर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा प्रदान की जाने वाली जेड-प्लस ’सुरक्षा कवर कर दिया।

जेड-प्लस सुरक्षा के तहत, प्रियंका गांधी के निवास के अलावा, उन्हें व्यक्तिगत तौर पर देश में कहीं भी यात्रा करने पर पर सीआरपीएफ कमांडोज़ द्वारा सुरक्षा प्रदान की जाती है।

Related Articles